इंटरनेट पर कोरोना वायरस अटैक

कोरोना वायरस के बहुत सारे side effects के बारे में आप सुन रहे होंगे या पढ़ रहे होंगे। एक बड़ा side effect, जिसके बारे में हम आज जानेंगे वो है internet speed पर कोरोना वायरस के अटैक का क्या असर हुआ है। वैसे ये समझना कोई रॉकेट साइंस नहीं है कि अगर आप Work from home पर हैं या फिर यूं भी पूरे दिन घर पर हैं तो इंटरनेट का इस्तेमाल तो कर ही रहे होंगे। फिर चाहे ऑफिस का काम करना हो, live streaming करनी हो, Music सुनना हो, कोरोना अपडेट्स लेने हों या बच्चों के साथ internet gaming devices पर खेलना हो। हर काम में इंटरनेट का इस्तेमाल होता है। 

इंटरनेट यूजर्स के मामले में भारत दूसरे नंबर पर है। दुनिया में इंटरनेट के कुल यूजर्स में भारत की हिस्सेदारी 12 फीसदी है। भारत में फिलहाल करीब 68.76 करोड़ इंटरनेट यूजर हैं। इनमें केवल 2.23 करोड़ यूजर ही वायर्ड ब्रॉडबैंड का उपयोग करते हैं। बाकी बचे लगभग 66.53 करोड़ यूजर मोबाइल और वायरलेस नेटवर्क पर निर्भर हैं। हम भी इन्हीं में से एक हैं। कोरोना वायरस के चक्कर में देश लॉकडाउन पर है और हम घर में। लिहाज़ा भारत में इन दिनों इंटरनेट की खपत 30% बढ़ गई है जबकि इंटरनेट स्पीड 25-30% कम हो सकती है। दूरसंचार कंपनियों के संगठन Cellular Operators Association of India ने ये जानकारी दी है। Internet Services Provider Association of India (ISPAI) का विश्लेषण बताता है कि बैंगलुरु और हैदराबाद जैसे शहरों में लॉकडाउन के बाद से ही इंटरनेट डेटा के इस्तेमाल में लगभग 70 फीसदी तक की बढ़ोतरी देखी गई है। 

दोनों ने ये हिदायत भी दी गई है कि इंटरनेट का इस्तेमाल ज़रूरत के हिसाब से करें जिससे आने वाले दिनों में स्थिति और ख़राब न हो। Streaming platforms ने 14 अप्रैल तक अपनी HD services बंद करने का फैसला किया है। साथ ही उन्होंने अपने वीडियो की quality पहले ही कम कर दी है। हम में से बहुत सारे लोग जो मोबाइल का इंटरनेट सिर्फ़ streaming के लिए इस्तेमाल करते थे अब दफ्तर के कामों के लिए भी इस्तेमाल कर रहे हैं। कुछ आँकड़े ये भी बताते हैं कि कि प्रति उपभोक्ता औसत मासिक वायरलेस डेटा का उपयोग 10.37 जीबी है। विश्लेषकों का कहना है कि अगर लोग घर से काम करना जारी रखते हैं, तो अगली दो तिमाहियों में एक औसत उपभोक्ता द्वारा मासिक डेटा का उपयोग लगभग 15 प्रतिशत बढ़ सकता है। यहां तक कि फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने भी स्वीकार किया कि फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप का usage बढ़ा है। 

जानकार मानते हैं कि रेजिडेंशियल एरिया से काम करने वाले यूजर्स की संख्या में तीन गुना तक बढ़ोतरी हुई है, जिसके कारण औसत डाउनलोड स्पीड में करीब 20 प्रतिशत तक गिरावट आई है। फिलहाल यह 9 से 10Mbps के बीच रहेगी, लेकिन अगर ऐसी स्थिति और एक महीने तक जारी रही तो इसमें 25 से 30 प्रतिशत तक और गिरावट आ सकती है। इस सब की वजह से दूरसंचार सेवाओं की गुणवत्ता को नुकसान पहुँच रहा है क्योंकि उनके पास घर के इंटरनेट खपत में हुई बढ़ोतरी को संभालने के लिए आवश्यक संसाधन नहीं हैं। तो क्या करें ? इस वक़्त की ज़रूरत है कि सरकार जल्दी से फाइबर रोलआउट को प्रोत्साहित करे और नए स्पेक्ट्रम संसाधनों का आवंटन करे। ये तो हुई technical बातें। अब इंटरनेट बचत के कुछ सीधे-सादे घरेलू उपाय समझिए – 

  • सबसे पहले तो जब आप दफ्तर का crucial काम कर रहे हैं जिसमें इंटरनेट की ज़रूरत है तब कोशिश कीजिए कि घर के appliances के इस्तेमाल कम हो। 
  • अपने इंटरनेट राउटर को अन्य उपकरणों से दूर रखने की कोशिश करें क्योंकि वो उसके सिग्नल के साथ हस्तक्षेप कर सकते हैं, जैसे कि फर्श के बजाय टेबल या शेल्फ पर रखें। 
  • राउटर सिग्नल के साथ हस्तक्षेप करने वाले उपकरणों में शामिल हैं: कॉर्डलेस फोन, बेबी मॉनिटर, हेलोजन लैंप, डिमर स्विच, स्टीरियो, कंप्यूटर स्पीकर, टीवी और मॉनिटर। 
  • वायरलेस इंटरनेट कनेक्शन के बजाय वायर्ड इंटरनेट कनेक्शन का इस्तेमाल करें।  
  • अच्छी ब्रॉडबैंड स्पीड के लिए, wi-fi की जगह अपने कंप्यूटर को सीधे अपने राउटर से कनेक्ट करने के लिए एक ईथरनेट केबल का इस्तेमाल करें। 
  • जहां संभव हो, टेलीफोन एक्सटेंशन लीड का उपयोग न करें, क्योंकि ये हस्तक्षेप का कारण बन सकते हैं और इंटरनेट स्पीड को कम कर सकते हैं। 
  • अगर टेलीफोन एक्सटेंशन लीड का इस्तेमाल ज़रूरी है तो नई और छोटी केबल का इस्तेमाल करें। क्योंकि लंबी और उलझी हुई केबल भी इंटरनेट की स्पीड को कम कर सकती है। 
  • अगर आप वीडियो कॉल पर मीटिंग कर रहे हैं, तो वीडियो को बंद कर दीजिए और सिर्फ़ ऑडियो का इस्तेमाल कीजिए। ऐसा करने में कम इंटरनेट खपत होगी और इससे आप अपने इंटरनेट usage को बचा सकेंगे। 
  • कॉल करते समय इस बात ध्यान रखें कि एकदम सुबह 10 बजे या 10.30 बजे कॉल करने की बजाय बीच में कॉल शुरु करें। 
  • जो भी device इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं उन्हें disconnect कर दीजिए। क्योंकि आपके वाई-फाई से जितने ज़्यादा devices जुड़े होंगे, उतनी ही कम स्पीड मिलेगी। 

जब इतनी बात हो ही रही है तो लगे हाथ ये भी जान लीजिए कि इंटरनेट डेटा कैसे बचाएं ? 

  • Auto update off रखें 
  • Auto media download off रखें 
  • Browser में net data save को on रखें 
  • Restrict background data 
  • Facebook में Video autoplay को बंद रखें 
  • Online streaming न करें 
  • ज़रूरी notification को ही on रखें 
  • Offline apps और games का इस्तेमाल करें 
  • Data saving browser का इस्तेमाल करें, कई फ़ोन्स की सेटिंग्स में भी ये मोड होता है, Android और iOS दोनों में ये विकल्प आपको मिल जाएगा। 
  • Cache clear न करें