#Covidiots कौन होते हैं?

#Jantacurfew #Day52 #FastFacts 

  • दुनिया में कोरोना वायरस का पहला मामला 31 दिसंबर 2019 को आया।ये मामला चीन के वुहान शहर में सामने आया। 

  • भारत में कोरोना वायरस का पहला केस 30 जनवरी 2020 को आया। 

  • 30 जनवरी 2020 को ही इसे Public Health Emergency of International Concern घोषित किया गया। 

  • 11 फ़रवरी को कोरोना वायरस से होने वाली बीमारी को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने नाम दिया – Covid 19. 

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 11 मार्च को कहा कि इस प्रकोप को महामारी माना जाना चाहिए।

  • महामारी शब्द का अर्थ है कि कई देशों में बीमारी या मृत्यु के कारण फैलने वाले लोगों के बीच निरंतर संचरण देखा जा रहा है। 

  • भारत में पहला जनता कर्फ़्यू 22 मार्च को लगा। 

  • जनता कर्फ़्यू के दिन तक भारत में कोरोना वायरस के मामले 390 पहुँच गए। 

  • भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण दर 1.7 है, जो दुनिया भर से काफी कम है। 

  • भारत में कोरोना के पहले मामले केरला से आए जहां चीन के वुहान शहर से तीन छात्र भारत लौटे थे। 

  • 10 मार्च को ये मामले 50 पहुँचे और 22 मार्च तक 39 0 के करीब। 

  • अब तक कोरोना वायरस का कोई टीका यानी vaccine नहीं है।

    इस वायरस से जानकारी ही बचाव है… इसलिए कोरोना वायरसऔर Covid 19 के बारे में जानिए… बहुत कुछ तो आप रोज़ ही सुन और पढ़ रहे होंगे… जैसे घर में ही रहिए, लोगों से मत मिलिए, बार-बार और ठीक से हाथ धोइए…  जो ऐसा नहीं कर रहे हैं, उन्हें #covidiot कहा जा रहा है।

    Covidiot का मतलब है – “वो व्यक्ति जो सार्वजनिक स्वास्थ्य या सुरक्षा के बारे में चेतावनी को नजरअंदाज करता है। जो सामान जमा करता है, और अपने पड़ोसियों से सामान साझा करने से इनकार करता है।” 

     

तो ख़्याल रहे जागरुक बने, covidiot नहीं।

और हाँ अगर आप जानना चाहते हैं कि कोरोना वायरस से कैसे बचें ? तो समझ लीजिए, इससे बचने के सिर्फ़ दो तरीक़े हैं –

  1. अगर आपको लक्षण महसूस हों तो तुरंत अपना टेस्ट कराए।
  2. अगर आप ख़ुद को स्वस्थ महसूस कर रहे हैं तो घर में रहें,  सावधान रहें, सुरक्षित रहें।