18 March : 53rd anniversary of first space walk

53 years ago today a man walked in space. He was Alexey Arkhipovich Leonov.

l4.jpg
‘I was surrounded by stars, floating without control,’ recalls the cosmonaut.

alexei-leonov-the-first-man-to-walk-in-space-photographed-at-the-age-of-80-in-his-office-in-moscow-on-march-12-2015.jpg
Aleksey Leonov, the first man to walk in space, photographed at the age of 80 in his office in Moscow on March 12, 2015 

Alexey was out in space for 12 minutes and 9 seconds. He stepped out of the spacecraft during the Voskhod 2 mission, tied with a cord to the spaceship.

l3mrraz27k4yzmm2ngj3.jpg

zt9ljiljhfuo5diddmer.jpg

‘I was surrounded by stars, floating without control,’
recalls Alexey, a retired Soviet/Russian cosmonaut and Air Force Major general.

Leonov had spent eighteen months undergoing intensive weightlessness training for the mission.

But this walk was full of challenges.
At the end of the spacewalk, Leonov realised his suit had inflated like a balloon, preventing him from getting back inside. He opened a valve to allow some of the suit’s pressure to bleed off and was barely able to get back inside the capsule. 

“My suit was becoming deformed. My hands had slipped out of the gloves, my feet came out of the boots. The suit felt loose around my body. I had to do something. I couldn’t pull myself back using the cord. And what’s more, with this misshapen suit, it would be impossible to fit through the airlock.”

#Hindi 
आसमान में हवाई जहाज से बाहर झांककर देखा है ? बादलों के बीच, इतनी ऊंचाई पर…कैसा महसूस होता है ?
अब ज़रा सोचिए…अंतरिक्ष में अगर कोई इस तरह स्पेसक्राफ्ट से बाहर झांककर देखे तो… ये एक बिल्कुल अलग अनुभूति होगी।
अब इससे भी एक कदम आगे बढ़ जाएं तो। अगर कोई अंतरिक्ष में स्पेसक्राफ्ट से बाहर निकलकर देखें तो ?
सोचिए नहीं, मिलिए Alexey Arkhipovich Leonov से। इन्होंने आज से 53 साल पहले अंतरिक्ष में चहलकदमी की थी। व करीब 12 मिनट 9 सेकंड तक अंतरिक्ष में लहराते रहे। Voskhod 2 mission पर Alexey ने जान का जोखिम उठाया। वो स्पेसक्राफ्ट से बाहर निकले और बस अंतरिक्ष में लहराने लगे। लगभग 12 मिनट तक वो एक डोरी की मदद से स्पेसक्राफ्ट से जुड़े हुए थे। इस पूरे समय वो किसी जेट विमान से भी कई गुना ज़यादा तेज़ी से हवा में घूम रहे थे। जैसे ही Alexey  स्पेसक्राफ्ट से बाहर निकले उन्हें ऐसा लगा जैसे उनका सूट बैलून की तरह फूल गया है। बहुत कोशिश करने के बाद भी वो स्पेसक्राफ्ट में वापस नहीं जा पा रहे थे। आखिरकार उन्होंने अपने सूट का एक वॉल्व खोला जिससे उनके सूट का प्रेशर थोड़ा कम हो। तब भी बहुत मुश्किल से वो वापस स्पेसक्राफ्ट में जा सके।