13 March : The tunnel under the sea

Seikan-tunnel-yoshioka.jpg
It is the longest tunnel in the world
It is the Deepest operational tunnel in the World for Railways.
It is the first undersea tunnel.
It costs a total of 3.6/6 billion US. dollars.
It is nearly ‘53.85 kilometer long’ with a 23.3 kilometer section under the sea-bed.
The track is 460 ft(140 meters) below the seabed and total depth from sea level to the tracks is 240 meters (790 ft).

440px-seikan_tunnel_profile_diagram-svg_.png
The construction of Seikan tunnel was decided because of increasing number of ferry traffic between the two islands to which this tunnel connects. In 1971, based on estimations and safety – decision was made to construct a long 53 kilometers of railway track beneath the sea to connect those thriving cities together. All-in-all 34 construction personnel perished due to geological conditions.
1296.jpg
Finally with all those brutal conditions, the Seikan tunnel was opened on 13 March 1988.

Sign_of_Yoshioka_Kaitei_Station
Sign of Yoshioka Kaitei Station


#Hindi 

दुनिया में सबसे अलग दिखना और बनना मुश्किल होता है। ऐसे ही सबसे अलग और सबसे अनोखी चीज़ बनाना भी अपने आप में एक चुनौती है। आज हम बात कर रहे हैं दुनिया की सबसे लंबी undersea tunnel यानी समुद्र से गुज़रने वाली सुरंग की… ये सुरंग आज 1988 में जापान में पहली बार खोली गई थी। इस tunnel को The Seikan Tunnel के नाम से जाना जाता है। ये लगभग 54 km लंबी railway tunnel है, जिसका 24 km लंबा हिस्सा समुद्र से होकर गुज़रता है। दरअसल, लगातार बढ़ रही ट्रैफिक की समस्या से बचने के लिए ये रास्ता सुझाया गया था। सुनने में ये जितना मुश्किल लग रहा था, बनाने में उससे भी ज़्य़ादा मुश्किल था। लेकिन, तमाम कोशिशों और निडर फैसलों की बदौलत दुनिया को ये नायाब टनल तोहफे के रूप में मिली।  ये जितना अनोखा लगता है दिखने में और भी ज़्यादा मज़ेदार है। और जब आप इसे अनुभव करेंगे तो उसकी बात ही कुछ और होगी। जीवन में एक बार इस टनल का आनंद ज़रूर लें।